Uttra news
Uttarakhand- वरिष्ठ आईएएस ओमप्रकाश को सीएस के पद से हटाने का फैसला देर से मगर एकदम सही- कार्मिक एकता मंच
 
देहरादून, 8 जुलाई 2021

उत्तराखंड कार्मिक एकता मंच ने वरिष्ठ आईएएस ओमप्रकाश (IAS Omprakash) को मुख्य सचिव के पद से हटाये जाने के सरकार के निर्णय को देर से मगर एकदम सही कदम बताया है। 


मंच के अध्यक्ष रमेश चंद्र पाण्डे ने कहा कि उनके द्वारा राज्य की पारम्परिक व दैविक मान्यताओं का उपहास उड़ाया था और यूपी कैडर वालों को फेवर करते हुए उत्तराखंड कैडर वालों की उपेक्षा की थी।


पाण्डे के अनुसार विकास के लिए जवाबदेही हेतु गंगोत्री के जलकलश के साथ अल्मोड़ा स्थित चितई ग्वैल ज्यू के मन्दिर से 30 अगस्त को निकली एकता यात्रा जब 29 सितम्बर को सचिवालय के मुख्य द्वार पर पहुंची तो मुख्य सचिव के कक्ष में उन्हें एक पत्र दिया गया। 


पत्र में विकास में बाधक हड़तालों के प्रति जवाबदेही हेतु मन्दिर में लगी एक फ़रियाद का हवाला देते हुए यह भी उल्लेख किया गया था कि ग्वैल देवता ने इस फ़रियाद के शीघ्र पूरा नहीं होने पर उथल-पुथल होने का वचन दिया है। 


इस पत्र को ध्यान से पूरा पड़ने के बाद पहले तो उन्होंने जोर का ठहाका लगाया और फिर एकाएक गुस्से से तमतमाते हुए पूछा कि तुम थर्ड पार्टी हो क्या?


मंच के अध्यक्ष पाण्डे ने कहा कि वर्षों से उत्तराखंड में जमे यूपी कैडर के कार्मिकों को रिलीव करने के बजाय मुख्य सचिव ने जनवरी 21 में उन्हें उत्तराखंड में समायोजित कराया जो त्रिवेन्द्र सरकार का राज्य की मूल अवधारणा के साथ ही जनभावनाओं के भी सरासर विपरीत निर्णय था।

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now