Uttra news
Harela Parv: अल्मोड़ा में अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों के साथ स्कूली बच्चों ने भी पौधारोपण कार्यक्रम में लिया हिस्सा
 

अल्मोड़ा। 'कोसी नदी पुनर्जनन अभियान' के अन्तर्गत चौथे चरण में कोसी की सहायक नदी सिरोतागाड़ के जलागम क्षेत्र भैंसोली में आज हरेला पर्व (Harela Parv 2021) के अवसर पर वृहद पौधारोपण किया गया। इस पौधारोपण में जिला स्तरीय अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, स्कूली बच्चों व स्थानीय लोगों द्वारा बढ़चढ़ कर प्रतिभाग करते हुये पर्यावरण व जल संरक्षण के अभियान से जुडते हुए पौधरोपण किया गया। 
 

इस अवसर पर कार्यक्रम की मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष उमा बिष्ट ने कहा कि सभी जनप्रतिनिधियों व लोगों को लगाये गये पौधों को बचाने की जिम्मेदारी लेनी होगी साथ ही प्राकृतिक स्त्रोतों को भी बचाने का प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण में सभी लोग अपना योगदान दें और प्रत्येक व्यक्ति अपने आप को एक पौधे को जोड़ें और उसके संरक्षण का प्रण लें। जिला पंचायत अध्यक्ष ने कोसी नदी के अलावा अन्य नदियों को बचाने की पहल करने की अपील भी की।
 

इस अवसर पर जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि आने वाले समय में पानी की किल्लत को देखते हुये सभी लोगों को एक पौधा अवश्य लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पोधारोपण से पर्यावरण को संरक्षित करने में सहायता मिलती है। हमारा प्रयास रहे कि हम लगे हुये पौधों की उचित देखभाल करें। उन्होंने कहा कि कोसी पुनर्जनन अभियान को देश-प्रदेश में नाम मिल चुका है इसे देखते हुये हमारी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है कि हम इस अभियान को सफल बनाने में हम अपना सम्पूर्ण योगदान दें। यह अभियान जन सामान्य का है और इसकी सफलता जन-सहभागिता पर आधारित है। 
 

उन्होने कहा कि स्थानीय लोग इन लगाये गये पौधों की देखभाल भी करें। उन्होंने बताया कि आज  के दिन पूरे जनपद में पौधरोपण किया जा रहा है हरेला (Harela Parv 2021) के दिन आज जनपद में 4 लाख 70 हजार 700 पौधे रोपे जा रहे हैं। इस दौरान ग्रामीणों ने ज्ञापन के माध्यम से जिलाधिकारी को अनेक समस्याओं से अवगत कराया जिस पर उन्होंने जल्द से जल्द कार्यवाही का आश्वासन दिया। 
 

कार्यक्रम के दौरान के मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पांडेय ने कहा कि हमें प्रकृति संरक्षण की ओर विशेष ध्यान देना होगा इसके लिए अधिकाधिक पौधारोपण करते हुए जनता को जागरूक होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पौधारोपण से जल संरक्षण और प्रकृति का संतुलन बना रहता है।
प्रभागीय वनाधिकारी माहतिम यादव ने लोगों से लगाए गए पौधों की देखभाल व आग से इन्हें बचाने की अपील करते हुए आने वाली बरसात में अधिकाधिक पौधारोपण के लिए प्रेरित किया। 
 

इस दौरान वनाधिकारी आरसी कांडपाल, उपजिलाधिकारी गौरव पांडे, जिला विकास अधिकारी केके पंत, मुख्य शिक्षा अधिकारी एचबी चंद, जिला शिक्षा अधिकारी हरीश रौतेला, परियोजना प्रबन्धक आजीविका कैलाश भट्ट, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी, जिला कार्यक्रम अधिकारी पीतांबर प्रसाद, जीबी पंत संस्थान की वैज्ञानिक वसुधा अग्निहोत्री, कोसी समन्वयक शिवेंद्र प्रताप, खाद्य सुरक्षा अधिकारी अभय रावत, ग्राम विकास अधिकारी हरीश सुयाल, जिला पंचायत सदस्य अंजू राणा, तहसीलदार विवेक राजौरी, राजेन्द्र भारती, सुरेश जलाल, इंद्र जलाल, दीवान जलाल, विद्या कर्नाटक, विनोद राठौर, कोसी सेल की सुशीला भोज, नाजिया परवीन, स्कूली बच्चों, जनप्रतिनिधियों के अलावा कई लोगो भी पौधरोपण कार्यक्रम में प्रतिभाग कर पर्यावरण एवं जल संरक्षण की इस मुहीम मे अपनी भागीदारी सुनिश्चित की।


 

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now