Uttra news
चंद रूपयों की खातिर मां-बाप ने ही कर डाला 2 नाबालिग बेटियों का सौदा, कुमाऊं के ​इस जिले से है यह मामला
 

पिथौरागढ़ सहयोगी, 16 जुलाई 2021

अपने ही मां-बाप के दो नाबालिग लड़कियों को 40 हजार रुपये में बेच देने का सनसनीखेज और दिल दहलाने वाला मामला जिला मुख्यालय में सामने आया है। शुक्रवार शाम को कोतवाली पिथौरागढ़ के प्रभारी निरीक्षक प्रभात कुमार ने इस मामले का खुलासा किया। 

मां-बाप सहित 6 लोग गिरफ्तार, एक पिथौरागढ़, दो राजस्थान और एक बनबसा का है रहने वाला  
पुलिस ने इस मामले में लड़कियों के मां-बाप सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया है जिसमें दो लोग राजस्थान और एक व्यक्ति बनबसा जिला चंपावत के रहने वाले है। 


राजस्थान में अलवर जिले का रहने वाला राहुल यादव पुत्र प्रकाश यादव राजस्थान के ही भरतपुर निवासी दलाल तुलसी चौधरी पुत्र होती सिंह के माध्यम से बच्चियों की खरीद-फरोख्त के लिए पिथौरागढ़ तक पहुंचा। इन्होंने जिला मुख्यालय में नगरपालिका क्षेत्र के अन्तर्गत एक गांव में रहने वाले बच्चियों के माता-पिता को 40 हजार रुपये दिये और दोनों नाबालिगों को लेकर रफूचक्कर हो रहे थे, लेकिन धर लिये गए। पुलिस की जांच-पड़ताल में सामने आया कि राजस्थान में भरतपुर जिले के कैलूरी थाना क्षेत्र के नदबाई के रहने वाले दलाल तुलसी चौधरी ने अपने भाई की शादी पिथौरागढ़ जिले के गंगोलीहाट में टिमटा क्षेत्र से की है।


दलाल तुलसी ने इस तरह बिछाया जाल 

दलाल तुलसी ने ही अलवर जिले के अहिरवस्ती, नगलीतुर्क वायडा काडूमूर, लक्ष्मणगढ़ केरथल निवासी राहुल यादव को लड़कियां उपलब्ध कराने के जाल में ले लिया। उसने राहुल को अलग-अलग लड़कियों की फोटो भी उपलब्ध कराईं। तुलसी ने पिथौरागढ़ के सल्ला चिंगरी क्षेत्र निवासी दलाल और वाहन चालक चंद्रप्रकाश उर्फ चंदू के माध्यम से बात आगे बढ़ाई। पिथौरागढ़ नगरपालिका क्षेत्र के गांव में रह रहीं दो नाबालिग बच्चियों को खरीदने के बारे में बात तय होने पर राहुल यादव दलाल तुलसी के साथ पिथौरागढ़ के लिए रवाना हुआ। 

बनबसा से दूसरे वाहन में गया पिथौरागढ़ 

पुलिस के अनुसार इन्होंने बनबसा क्षेत्र में अपनी गाड़ी खड़ी की और वहां से एक अन्य गाड़ी सनी सिंह पुत्र सतपाल सिंह निवासी मीना बाजार, बनबसा, जिला चंपावत की बुक कर पिथौरागढ़ पहुंचे। यहां उन्होंने दलाल चंदू के माध्यम से दोनों लड़कियों के मां-बाप को 40 हजार रुपये पकड़ाए और लड़कियों को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस के अनुसार लड़कियों की खरीद-फरोख्त का पूरा लेनदेन 90 हजार रुपये में किया गया। 


एंचोली चौकी में पुलिस की पूछताछ में पकड़े गये आरोपी 
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक कुमार के अनुसार इसके बाद राहुल और तुलसी ने योजनाबद्ध तरीके से पिथौरागढ़ निवासी दलाल चंदू को गत बृहस्पतिवार की देर शाम अपनी गाड़ी से लड़कियों को एंचोली चौकी पार कराने के लिए कहा। जहां पुलिस को शक होने पर पूछताछ की गई तो मामले का भंडाफोड़ हुआ जिसके बाद सभी आरोपियों को दबोच लिया गया। बरामद किशोरियों तथा आरोपियों को शुक्रवार शाम न्यायालय मेंं पेश किया गया। जहां से लड़कियों को फिलहाल एक महिला संस्था की सुपुर्दगी में दिया गया है। 


मासूमों की मां सगी और पिता सौतेला 
पुलिस के अनुसार नाबालिग लड़कियों को बेचने वाली मां तो उनकी सगी है, लेकिन पिता सौतेला है। जबकि लड़कियों के दस्तावेजों में सौतेला पिता ही उनके पिता के रूप में दर्ज है। सौतेला पिता मूल रूप से तल्ली देह, थाना तल्लीदेह बैतड़ी, नेपाल का रहने वाला है, जबकि मां मूल रूप से हल्दू, पिथौरागढ़ की रहने वाली है। इनकी एक और छोटी बेटी भी है।

प्रभारी निरीक्षक प्रभात कुमार के अनुसार पकड़े गए आरोपियों के पास से कुल 1 लाख 7 हजार रुपये बरामद हुए हैं, जिसमें 10 हजार रुपये लड़कियों की मां से, 30 हजार पिता से, 30 हजार दलाल चंदू के पास से और 19 हजार 5 सौ रुपये लड़कियों को खरीदने वाले राहुल के पास से बरामद किये गए। प्रभारी निरीक्षक के अनुसार यह अभी स्पष्ट नहीं है कि नाबालिग लड़कियों को खरीदने वाला राहुल इनके साथ शादी करना चाहता था या उसकी मंशा इनका उत्पीड़न करने के बाद इन्हें आगे बेच देने की थी।

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now