Uttra news
मंडल आयुक्त ने वी​सी के माध्यम से की बागेश्वर विकास योजनाओं की समीक्षा
 
बागेश्वर, 21 जुलाई 2021

मंडल आयुक्त सुशील कुमार ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से बागेश्वर जिले की विकास योजनाओं की समीक्षा की। मंडल आयुक्त सुशील कुमार ने कहा कि कोविड संक्रमण के कारण प्रभावित हुई विकास योजनाओं को प्राथमिकता के साथ पूरा करें।  


मंडल आयुक्त ने कहा कि राज्य योजना के अंतर्गत जिन विभागों के पास वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल, 2021 की धनराशि अवशेष है, वो विभाग शीर्ष प्राथमिकता के साथ शेष धनराशि को व्यय करते हुए योजना का निर्माण कार्य शीघ्रता से पूर्ण करे।  


मंडल आयुक्त ने कहा कि कोविड महामारी के कारण बाहरी राज्यों एवं जनपदों से कई लोग अपने जनपदों को वापस आये है ऐसे लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए सभी अधिकारी अपनी-अपनी योजनाओ का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए लोगों को योजना का लाभ उपलब्ध कराये। 


मंडल आयुक्त ने बीस सूत्रीय कार्यक्रम पर भी सभी अधिकारी विशेष फोकस करें। और जो  विभाग बी एवं डी श्रेणी में चल रहे हैं, वो ए श्रेणी में आने के लिए विशेष प्रयास करें। 


समीक्षा बैठकके दौरान मुख्य विकास अधिकारी डीडी पंत ने बताया कि कराया कि जिला योजना के अंतर्गत अनुमोदित परिव्यय 41 करोड, 67 लाख के सापेक्ष शासन ने 29 करोड, 82 लाख की धनराशि अवमुक्त की गयी है और यह धनराशि सभी विभागो को जिलाधिकारी द्वारा अवमुक्त करा दी गयी है।

कहा कि इसमें से 11 करोड की धनराशि व्यय की जा चुकी है। राज्य योजना के अंतर्गत 51 करोड, 37 लाख का परिव्यय के सापेक्ष 39 करोड, 85 लाख की धनराशि आहरित की गयी है, जिसके सापेक्ष 29 करोड की धनराशि व्यय कर लिया गया है शेष धनराशि संबंधित विभागों द्वारा व्यय की जा रही है। 


उन्होंने बताया कि मनरेगा कार्यक्रम के तहत 8 करोड 85 लाख के लक्ष्य के सापेक्ष 8 करोड, 60 लाख रूपये खर्च कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत 29 करोड की धनराशि उपलब्ध हुई है जिसके सापेक्ष 22 करोड, 62 लाख की धनराशि व्यय की जा चुकी है।

 जल जीवन मिशन के अंतर्गत द्वितीय चरण में 55 स्टीमेट के सापेक्ष 45 स्टीमेट पर विधित टेण्डर की प्रक्रिया पूर्ण की जा चुकी हैं, और इस पर कार्य भी शुरू कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि बीस सूत्रीय कार्यक्रम में 13 मद ए श्रेणी में है तथा एक मद सी श्रेणी में तथा 8 मद डी श्रेणी में है। कौशल विकास कार्यक्रम के तहत जनपद में कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र संचालित है जिसमें लगभग आठ सौ बच्चों को प्रशिक्षण उपलब्ध कराया गया है।


वीसी में जिला विकास अधिकारी केएन तिवारी, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, महाप्रबंधक उद्योग जीपी दुर्गापाल, अर्थ एवं संख्याधिकारी देवेन्द्र नाथ गोस्वामी, मुख्य कृषि अधिकारी वीपी मौर्या, अधि.अभि. विद्युत भाष्कर पांडे, पेयजल निगम सीपीएस गंगवार, जल संस्थान एमके टम्टा, सिंचाई एके जाॅन, लोनिवि संजय पांडे, पीएमजीएसवाई, अनिल चौधरी,अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत डाॅ. सुनील कुमार, अधि.अधि. नगर पालिका राजदेव जायसी, जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति आर्या, परियोजना अधिकारी उरेडा राॅकी कुमार सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।  

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now