Uttra news
Almora- जागेश्वर में इन नियमों के साथ पूजा व दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु, कोविड के चलते लगाई गई कई पाबंदिया
 

अल्मोड़ा, 15 जुलाई 2021
देवाधिदेव महादेव का पवित्र श्रावण मास कल यानि शुक्रवार से शुरु होने जा रहा है। विश्व प्रसिद्ध जागेश्वर मंदिर में कोविड प्रोटोकॉल के चलते कई पाबंदियों के साथ श्रद्धालु पूजा-अर्चना कर सकेंगे। 


जागेश्वर मंदिर प्रबंधन समिति के प्रबंधक भगवान भट्ट ने बताया कि दैनिक आधार पर अधिकतम 1 हजार श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति दी गई है। आवश्यक पास आरतोला और सांस्कृतिक मंच जागेश्वर पर तैयार बैरियरों से जारी होगा वहीं, बिना दर्शन पास के मंदिर में प्रवेश निषेध रहेगा। मंदिर में दर्शन सुबह 6:30 बजे से शाम 6 बजे तक किए जा सकते है। 


बताया कि मंदिर परिसर में अग्रिम बुकिंग के आधार पर दैनिक आधार पर अधिकतम 100 पूजा संपन्न होंगी। बुकिंग मंदिर समिति और अपने परिचित के सम्मानित पुजारियों के माध्यम से न्यूनतम 1 दिन पूर्व तक करायी जा सकती है बिना अग्रिम बुकिंग पूजा की अनुमति नहीं दी जायेगी।  मंदिर परिसर में पूजा सुबह 7 बजे से शाम 4:30 बजे तक ही होंगी वहीं, प्रत्येक पूजा हेतु निश्चित समय तय किया गया है। 


एक पूजा में एक परिवार के अधिकतम 6 सदस्य ही प्रतिभाग कर सकते हैं 6 से ज्यादा सदस्य होने पर अतिरिक्त रसीद काटी जायेगी। 


जागेश्वर मंदिर में समस्त पूजा स्थानीय सूचीबद्ध पुजारियों द्वारा ही कि जाएंगे, कोई भी बाह्य पुजारी को मंदिर में पूजा की अनु​मति नहीं दी गई है।


उत्तराखंड से बाहर के श्रद्धालुओं हेतु आवश्यक रूप से RT-PCR नेगेटिव रिपोर्ट, देहरादून स्मार्ट सिटी में पंजीकरण पास और संबंधित पूजा बुकिंग रसीद के साथ ही प्रवेश की अनुमती दी जायेगी। बिना उपरोक्त दस्तावेजों के किसी को भी जागेश्वर मे प्रवेश की अनुमति नहीं होगी वहीं, राज्य सरकार द्वारा जारी सभी नियमों का पूर्ण पालन करने पर ही अनुमति वैध होगी। पूजा के लिए पंजीकरण मोबाइल नंबर 9760677235, 09997259013, 8126462553 पर  कॉल  करके या whatsapp के माध्यम से या अपने परिचित के सम्मानित पुजारियों के माध्यम से ली सकती है। 


दर्शन या फिर पूजा के लिए सभी को आवश्यक रूप से सभी को कोरोना महामारी से बचाव हेतु जारी दिशा-निर्देशों विशेषकर मास्क, सामाजिक दूरी तथा सेनेटाइजर का उपयोग किया जाना आवश्यक होगा, नियमों का उल्लंघन करने पर सख्त कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। जागेश्वर मंदिर में किसी भी बाहरी दुकानदार को व्यापार की अनुमति नहीं दी गई है। वहीं, भंडारे पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किये गये है। मंदिरों के गर्भ गृह में प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। मंदिर दर्शन का अधिकतम समय 10 मिनट तय किया गया है। 


श्रद्धालु इस वर्ष से जागेश्वर मंदिर समूह परिसर के साथ साथ डंडेश्वर मंदिर परिसर में भी पार्थिव पूजा, रुद्राभिषेक, अन्य पूजा करा सकते हैं, जिसके लिए भी उपरोक्त मोबाइल नम्बरों पर संपर्क कर अग्रिम बुकिंग की जा सकती है। यहां भी अग्रिम बुकिंग करानी होगी। 


जागेश्वर मंदिर प्रबंध समिति के प्रबंधक भगवान भट्ट ने बताया कि शर्त व नियमावली प्रबंधक, जागेश्वर मंदिर प्रबंधन समिति से प्राप्त की जा सकती है।

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now