Uttra news
Almora: पूर्व विधायक मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने किया उपवास, सरकार से की यह मांग
 

अल्मोड़ा। पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने कोरोनाकाल में सुरक्षा की दृष्टि से लागू लाकडाउन से व्यापारियों, कोचिंग इन्स्टीट्यूट संचालकों, जिम संचालकों, फड़ व्यवसाईयों, होटल व्यवसाईयों, टैन्ट हाऊस संचालकों, टैक्सी संचालकों, रेस्टोरेंट संचालकों, प्रिंटिंग प्रेस संचालकों, हेयर ड्रेसरों सहित अन्य को हुए नुकसान की भरपाई के लिए आर्थिक सहायता देने की मांग को लेकर आज गांधी पार्क, चौघानपाटा में उपवास किया।
 

इस अवसर पर पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने कहा कि कोरोना काल की पहली और दूसरी लहर में लाकडाउन लागू होने से व्यापारियों को आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा है। लगातार बाजार बन्द होने से व्यापारियों की आर्थिक स्थिति बेहद दयनीय हो चुकी है। आज व्यापारी बैंकों के कर्ज तले दब चुके हैं पर कोई व्यापारियों की सुध लेने वाला नहीं है।
 

उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार को एक स्पष्ट नीति बनाते हुए प्रत्येक व्यापारी को तत्काल आर्थिक सहायता उपलब्ध करानी चाहिए। इसके अलावा उन्होंने केन्द्र सरकार से मांग की है कि जिन भी व्यापारियों ने अपने व्यापार के लिए बैंकों से कर्ज लिया है उनका कोरोनाकाल का ब्याज स्पष्ट रूप से माफ किया जाए। इसके अलावा कोरोनाकाल का प्रत्येक व्यापारी का कम से कम 6 माह का बिजली एवं पानी का बिल माफ किया जाए।
 

तिवारी ने कहा कि इसी तरह कोचिंग एवं जिम भी इस कोरोनाकाल में पूरी तरह बन्द रहे जिससे इनके संचालकों और वहां कार्य करने वाले लोगों के सामने अपने परिवार के भरण पोषण की समस्या उत्पन्न हो गयी है। उन्होंने कहा कि सरकार कोचिंग एवं जिम संचालकों के लिए भी आर्थिक सहायता की तत्काल घोषणा करें तथा जिन कोचिंग एवं जिम संचालकों ने अपने कोचिंग एवं जिम के लिए बैकों से ऋण लिया है उनके ऋण का 6 महीने का ब्याज केन्द्र सरकार पहल करते हुए तुरन्त माफ करवाये। 
 

तिवारी ने कहा कि लघु व्यवसायियों के रूप में हजारों फड़ व्यवसाई भी हैं जो दैनिक रूप से अपना व्यापार कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं लेकिन इस कोरोना काल में उनका व्यवसाय पूरी तरह से तबाह हो चुका है।सरकार को इन समस्त फड़ व्यवसाईयों को प्राथमिकता के आधार पर आर्थिक सहायता उपलब्ध करानी चाहिए ताकि ये अपना व्यापार दोबारा संचालित कर सके।
 

तिवारी ने कहा कि इसी तरह होटल संचालक, रेस्टोरेंट संचालक, टैन्ट हाउस संचालक सहित प्रिंटिंग प्रेस संचालक, हेयर ड्रेसर, आटोमोबाइल वाले इस लाकडाउन में पूरी तरह से आर्थिक रूप से कमजोर हो चुके हैं। सरकार इन्हें भी वरीयता के क्रम में लेकर शीघ्र इन्हें भी आर्थिक सहायता दे तथा इनके बैंक ऋण का ब्याज माफ करे।
 

उन्होंने कहा कि अनेक ऐसे टैक्सी संचालक भी हैं जिनकी इस लाकडाऊन ने कमर तोड़ कर रख दी है। काम ना चल पाने के कारण वे ऋण से लिए हुए वाहन की किश्त तक भरने में असमर्थ हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार टैक्सी संचालकों को भी आर्थिक सहायता दे तथा इनके बैंक ऋण का ब्याज माफ कर इन्हें ऋण की किश्तें चुकाने के लिए भी अतिरिक्त समय दे।
 

तिवारी ने नगरपालिका और जिला पंचायत से भी अनुरोध किया है कि उनके स्वामित्व में जितनी भी दुकानें हैं उनका किराया इनके द्वारा माफ किया जाए ताकि व्यापारियों को कुछ राहत मिल सके। 
 

इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी, कांंग्रेस नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतेला, पूर्व जिला सचिव व्यापार संघ तारा चन्द्र जोशी, पीसीसी सदस्य हर्ष कनवाल, व्यापार मंडल उपाध्यक्ष प्रत्येश पान्डेय, व्यापार मंडल उपाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद, व्यापार मंडल कोषाध्यक्ष कार्तिक साह, व्यापार मंडल महासचिव मयंक बिष्ट, मंजू कान्डपाल, भूपेन्द्र भोज, महिला जिलाध्यक्ष लता तिवारी, राधा बिष्ट, गीता सैनी, डेयरी फेडरेशन प्रदेश उपाध्यक्ष दीप सिंह डांगी, जिला उपाध्यक्ष विनोद वैष्णव, जिला प्रवक्ता राजीव कर्नाटक, जिला सचिव दीपांशु पांडे, अख्तर हुसैन, विक्की बिनवाल सहित कई लोग मौजूद थे। 

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now