rape
Share Article

Neighbor arrested by police on charges of raping a minor, arrested under Pocso Act

uru advt

अल्मोड़ा 28 जून 2020


अल्मोड़ा। नाबालिग के साथ बहला फुसलाकर दुराचार करने वाले आरोपी को पोक्सों (pocso) एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुए पुलिस ने धर दबोचा है। युवक ने नाबालिग को पहले बहलाया फुसलाया और बाद में उसके साथ बंद कमरे में उसके साथ दुराचार किया।

WhatsApp Image 2020 06 11 at 2.19.51 PM
https://uttranews.com/wp-content/uploads/2020/06/IMG-20200525-WA0035.jpg

नाबालिग द्वारा विरोध किये जाने पर युवक ने उसे जान से मारने की धमकी दी। उसने उसका विरोध किया तो युवक ने उसे डराया धमकाया। परिजनों ने किशोरी के साथ दुराचार का पता चलने के पुलिस में शिकायत की। इसके बाद आरोपी को पोक्सों (pocso) एक्ट में गिरफ्तार कर लिया।

uru advt

पुलिस कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार मामला नगर क्षेत्र का है जहां एक नाबालिग से दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। नाबालिग किशोरी और युवक पड़ोसी बताये जा रहे हैं।

आरोप है कि गत 26 एवं 27 जून को आरोपी युवक ने नाबालिग को बहला फुसलाकर व डरा धमकाकर अपने बुलाया और घर के एक कमरे में उसने नाबालिग के साथ गलत हरकत की। 27 जून को नाबालिग ने घर लौटने के बाद घटना के बारे में परिजनों को बताया।

इसके बाद उसके परिजनों ने शनिवार की शाम कोतवाली पहुंचकर आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ धारा 363/376/50 व 5/6 पोक्सो अधिनियम के तहत केस दर्ज किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी ने प्रभारी कोतवाल अरुण वर्मा को तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिये। इस मामले की जांच एसआई सुनीता कुंवर को सौंपी गई है। एसआई सुनीता कुंवर के नेतृत्व में पुलिस टीम ने कांस्टेबल संदीप सिंह, मुकेश कुमार, विक्रम सिंह आदि के साथ आरोपी को देर रात गिरफ्तार कर लिया।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

"

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw

Join WhatsApp & Telegram Group

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Telegram Channel ज्वाइन करें।
Join Now

अपील प्रिय पाठकों उत्तरा न्यूज शुभचिंतकों की मदद से संचालित होता है। यदि आप भी चाहते है कि खबरें दबाब से मुक्त हो तो आप भी इस मुहिम में आर्थिक मदद देकर भागीदारी करें। आपकी यह मदद वैकल्पिक मीडिया के हाथों को मजबूत करेगी। Click Here


Share Article