Uttra news
pithoragarh cloudburst update- जामुनी तोक के ऊपरी हिस्से में अतिवृष्टि से सक्रिय हुआ भूस्खलन
 भूवैज्ञानिकों की टीम ने किया धारचूला के आपदा क्षेत्र जुम्मा और अन्य जगहों का भूगर्भीय निरीक्षण 
 


पिथौरागढ़। भूवैज्ञानिकों की टीम ने धारचूला के आपदाग्रस्त ग्राम जुम्मा क्षेत्र का भूगर्भीय सर्वे किया। इस दौरान टीम ने पाया कि जुम्मा में जामुनी तोक के ऊपरी भाग में स्थित तोक ज्योल दूंगा के निचले हिस्सों में अधिक बारिश के कारण भूस्खलन सक्रिय हुआए जिससे 3 आवासीय भवन पूरी तरह और एक भवन टूट चुके हैंए जिसमें 5 लोग मलबे में दब गये थे।

देहरादून से आई और पिथौरागढ़ के भूवैज्ञानिकों की टीम विगत सितम्बर को धारचूला से नौला मन्दिर जुम्मा तक हेलीकॉप्टर तथा उसके बाद पैदल रास्तों से तोक जामुनी पहुंचे। टीम ने तोक सिरौउडियार का भी निरीक्षण किया, जिसमें 2 भवनों को नुकसान हुआ है और 2 लोग मलबे में दब गये थे। टीम ने थुलथामए कठेरी ढुंगा आदि का भी निरीक्षण किया। तोक खातपोली में भी ऊपरी भाग से भूस्खलन होने से कई भवन बाल-बाल बचे हैं। खातपोली के ऊपरी भाग में स्थित तोक रेजानी व नालापानी के नीचे से भूस्खलन चालू हुआ था।   

   तोक तुसरानी में भी अपहिल भूभाग से 2 नालों में मलबा आने और निचले भाग से कुलागाड़ नदी से कटाव होने के कारण लगभग 22 परिवार खतरे की जद में आ चुके हैं। टीम ने पाया कि बरसाती नालों द्वारा पहाड़ी से अपना रुख बदल देने से जनहानि से लोग बच गयेए परन्तु खतरा अभी भी बरकरार हैए क्योंकि ऊपरी भाग में अभी भी मलबा रुका हुआ है। तुसरानी के ऊपरी भाग पर स्थित नालापानी तोक के निचले भागों से भूस्खलन एक्टिव हुआ है। 


       टीम ने पाया कि ग्राम जुम्मा के अन्य तोक भी खतरे में आ चुके हैं। तोक भारभेली के भवनों के नीचे से कुलागाड़ के कटाव करने से पैदल रास्ते ध्वस्त हो चुके हैं तथा भवनों के निचले भाग से कटाव जारी है। जुम्मा के तोक नाग के अंतर्गत छोटी बस्ती धौलकोटए तल्ला नागए घाड़ी का नाला तोक के ऊपरी भाग से नाले में मलबा आने के कारण बस्ती खतरे में आने से बची है। चौडार तोक में 2 भवन नदी और नाले में बाढ़ आने के कारण खतरे में आ चुके हैं, जिसमें परिवार 2 दिनों तक पानी कम नहीं होने तक फंसे रहेए जिन्हें ग्रामीणों ने अस्थायी पुल बनाकर बाहर निकाला। तोक छरकल बाटा तोक के 4 भवन दो नालों के मध्य होने के कारण आवागमन बन्द हैए जो पहले ही बाहर आ चुके थे। इसके अतिरिक्त तोक बुरांशए भनारए दोछिना आदि तोकों का स्थलीय निरीक्षण कर  टीम धारचूला आ चुकी है। टीम सभी तोकों का भूगर्भीय निरीक्षण कर विस्तृत आख्या जिलाधिकारी को भेजेगी। टीम में देहरादून में मनीष सेमवालए वेंकटेश्वरए जीबीआरजी आचारल्यू तथा पिथौरागढ़ से प्रदीप कुमार व रूप सिंह धामी शामिल थे।
 

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now