Uttra news
कुमाऊँ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (कूटा) ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर उठाई यह मांग
 

नैनीताल। कुमाऊँ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (कूटा) नैनीताल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को ज्ञापन भेजकर विश्विद्यालयों तथा महविद्यालयों में कार्यरत संविदा/गेस्ट प्राध्यापकों का न्यूनतम वेतनमान विश्विद्यालय अनुदान आयोग भारत सरकार के दिशनिर्देशों के अनुसार 50000 प्रतिमाह करने का निवेदन किया है।

कूटा ने मुख्यमंत्री से यह भी निवेदन किया है की जो प्राध्यापक उच्च शिक्षा में 5 वर्षों से अधिक से काम कर रहे हैं उनको भी समायोजित  किया जाए।

बताया गया कि हाल ही में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय द्वारा भी वहां कार्यरत संविदा /गेस्ट प्राध्यापकों का वेतन सहायक प्राध्यापक के न्यूनतम वेतनमान के बराबर रुपए 57700  किया है। मुख्यमंत्री द्वारा हाल ही में माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत अतिथि शिक्षकें का मानदेय में वृद्धि की है जिससे उच्च शिक्षा के संविदा/गेस्ट शिक्षकों को भी उम्मीद बड़ी है।

इस दौरान कूटा की ओर से प्रो. ललित तिवारी, डॉ.विजय कुमार, डॉ.सुहैल जावेद, डॉ.दीपिका गोस्वामी, डॉ.दीपक कुमार, डॉ.पैनी जोशी, डॉ.प्रदीप कुमार, डॉ.सीमा चौहान, डॉ.गगन, डॉ.रीतेश साह इत्यादि शामिल रहें।

सोशल मीडिया में आप हमसे फेसबुकटविटर के माध्यम से भी हमसे जुड़ सकते है। इसके साथ ही आप हमें  गूगल न्यूज पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है। हमारे वाटसप ग्रुप में जुड़ने के लिये कृपया इस लिंक को क्लिक करें

खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now