gaurda
Share Article

Gauri Dutt Patwari ”Gaurda” Ka Nidhan

अल्मोड़ा। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवार के गौरीदत्त पटवारी ”गौरदा ” (Gaurda) का निधन हो गया है। वह 62 वर्ष के थे। गौरदा सोमेश्वर तहसील के प्रभारी तहसीलदार भी रहे। इसी पद से वह सेवानिवृत हुए थे। पटवारी के पद से अपनी सेवा की शुरूवात करने वाले गौरदा (Gaurda) प्रभारी तहसीलदार के पद पर भी रहे लेकिन अल्मोड़ा में उन्हे गौरदा पटवारी के नाम से जाना जाता था। सरल हंसमुख स्वभाव के गौरदा के निधन पर उनके जानने वाले स्तब्ध है।

WhatsApp Image 2020 06 11 at 2.19.51 PM
https://uttranews.com/wp-content/uploads/2020/06/IMG-20200525-WA0035.jpg

गौरदा (Gaurda) अपने पीछे अपनी 90 वर्षीय माता जयंती देवी, पत्नी और भरे पूरे परिवार को रोता बिलखता छोड गये है।
कुछ दिन पूर्व उनके गले में कफ जमने की समस्या हुई तो उनके परिजन उन्हे बीते सोमवार 22 जून को हल्द्वानी सेंट्रल हा​स्पिटल ले गया।

चैक अप के दौरान किडनी से सबंधित रोग का भी पता चला और मंगलवार की सुबह 6:30 बजे उन्होने सेंट्रल हास्पिटल में अंतिम सांस ली। गौरदा की पत्नी गीता तिवारी हवालबाग विकासखण्ड में शिक्षिका है। उनकी पुत्री का विवाह हो चुका है। बड़ा बेटा हितेश पर्यटन का व्यवसाय करता है जबकि छोटा बेटा हिमांक विधि का छात्र है।

उनके ​परिजन शव को लेकर हल्द्वानी से अल्मोड़ा के लिये रवाना हो गये है। शाम 5 बजे त्यूनरा स्थित आवास से उनकी अंतिम यात्रा विश्वनाथ घाट के लिये रवाना होगी।

"

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/

Join WhatsApp & Telegram Group

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Telegram Channel ज्वाइन करें।
Join Now

अपील प्रिय पाठकों उत्तरा न्यूज शुभचिंतकों की मदद से संचालित होता है। यदि आप भी चाहते है कि खबरें दबाब से मुक्त हो तो आप भी इस मुहिम में आर्थिक मदद देकर भागीदारी करें। आपकी यह मदद वैकल्पिक मीडिया के हाथों को मजबूत करेगी। Click Here


Share Article