कोरोना वायरस
Share Article

सलीम मलिक

रामनगर। रामनगर में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना के संक्रमण से कहीं अधिक महफूज माने जाने वाले चिकित्सक भी इससे अछूते नही रहे। रामनगर में दो दंत चिकित्सकों के कोरोना पाजिटिव पाए जाने के बाद रामनगर में तैनात कोविड-19 के नोडल अधिकारी भी कोरोना पाजिटिव पाए गए। जबकि उनका परिवार रैपिड एंटीजन में नेगेटिव पाया गया है। नोडल अधिकारी के कोरोना पाजिटिव आने पर प्रशासनिक हल्को में हड़कम्प मच गया है।

फिलहाल नोडल अधिकारी को आईसोलेट किया गया है जबकि उनके परिजनो को होम क्वारन्टीन कर दिया गया है। अपने कोरोना पाजिटिव होने का खुलासा खुद करते हुये कोविड-19 के नोडल अधिकारी ने बताया की बीते एक-दो दिन से उनके स्वास्थ्य में कुछ गिरावट लग रही थी। जिसके चलते उन्होंने बिना देरी किए अपना रैपिड एंटीजन टैस्ट कराया। जैसे ही उसकी रिपोर्ट पाजिटिव आई उन्होंने खुद को आइसोलेट करवा दिया। साथ ही उन्होंने इसकी जानकारी स्थानीय प्रशासन और जिला प्रशासन को भी दे दी।

इस क्रम में अब उनके संपर्क में आने वाले लोगों के कोरोना टैस्ट किये जायेंगे। नोडल अधिकारी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद रामनगर एसडीएम, पुलिस क्षेत्राधिकारी, कोतवाल सहित सहित कोविड-19 कार्यालय के अधिकारी, कर्मचारी सहित कई लोगों का रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जाएगा। दूसरी ओर नोडल अधिकारी के कोरोना पाजिटिव निकलते ही प्रशासनिक हल्को में हड़कम्प की स्थिति बन गई है। अधिकारी के कोरोना संक्रमित होने के कारण उनके सम्पर्क में आये तमाम अधिकारी व कर्मचारियो के क्वारंटीन होने की स्थिति में रामनगर में प्रशासनिक काम-काज प्रभावित होने की आशंका बनी हुई है।

लोगो के लिये आफत बन गया कोरोना वायरस टैस्ट


रामनगर। कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट समय से न आने के कारण जनता के लिये कोरोना वायरस से अधिक उनकी रिपोर्ट दुखदाई साबित हो रही है। एक सप्ताह तक रिपोर्ट ने आने पर भी अपने सम्भावित उपचार को लेकर लोगो की सांसे अटकी हुई हैं। माइक्रो कन्टेन्मेन्ट जोन बने नगर के मुख्य बाजार स्थित ज्वाला लाईन के निवासियो के कोरोना टेरूट सैम्पल सोमवार को मुक्तेशवर जांच के लिये भेजे गये थे, लेकिन शनिवार की शाम तक इनकी रिपोर्ट का अता-पता नहीं था।

इसके साथ ही दिक्कत यह है कि जांच रिपोर्ट कब आयेगी इसके लिये जानकारी मांगने पऱ जिम्मेदार अधिकारी जवाब देने में भी कतरा रहें है। इस मामले को उपपा ने उठाते हुये आयुक्त व डीएम को पत्र भेजा है।

उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केंद्रीय उपाध्यक्ष व राज्य आंदोलनकारी प्रभात ध्यानी ने आयुक्त कुमाऊं मंडल एवं जिलाधिकारी को लिखे पत्र में अवगत कराया है कि रामनगर से कोरोना वायरस टेस्ट के सैंपल की जांच की रिपोर्ट आने में कई दिन लग जा रहे हैं जिसके कारण क्वारेंटाइन सेंटरों में भेजे गए मरीजों को भारी मानसिक यातना से गुजारना पड़ रहा है। ध्यानी ने शासन प्रशासन से मांग की है कि सैंपल की जांच रिपोर्ट के काम में तेजी लाई जाए जिससे लोगों को अनावश्यक मानसिक परेशानी से बचाया जा सके।

आज रामनगर में पतंजलि रोड पीरूमदारा निवासी 54 वर्षीय और 23 वर्षीय युवक, रामनगर में एक बैंक के 35 वर्षीय युवक और 33 वर्षीय युवती, शंकरपुर के 30 वर्षीय युवक, बद्री विहार पीरूमदारा में 35 वर्षीय एवं 13 वर्षीय युवती, बेतालघाट में 28 वर्षीय युवक में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है।

वही बम्बाघेर में 52 वर्षीय और 60 वर्ष की महिला, देवीधुरा मालधनचौड़ के 35 वर्षीय युवक, पीरूमदारा चौकी अंतर्गत 57 वर्षीय, 31 वर्षीय, 32 वर्षीय युवक, 20 वर्षीय युवक, अग्रवाल धर्मशाला के 33 वर्षीय और 37 वर्षीय युवक, ढेला में 51 वर्षीय महिला, फेयर सर्विस में 39 वर्षीय युवक, बैलपोखरा कोटाबाग की 24 वर्षीय युवती, छोई के 45 वर्षीय युवक, 44 वर्षीय महिला, 10 वर्षीय युवक में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है।

कृपया हमारे यूटयूब चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw


Share Article