Share Article

मयंक मैनाली, रामनगर


रामनगर। रामनगर में कार्बेट पार्क प्रशासन ने कंडी रोड और उससे लगती अपनी भूमि पर भी खाई खोदने का काम शुरू कर दिया है। जी हां, पढने में आपको शायद अटपटा लगे परन्तु यह खबर सौ फीसदी सच है। कार्बेट पार्क प्रशासन ने पार्क के बिजरानी जोन के अंतर्गत पार्क की सीमा से लगती पुरानी कंडी रोड पर पहले बांउड्री की जिसका स्थानीय ग्रामीणों ने विरोध भी किया। उसके बाद यहां फैंसिग का काम शुरू करवा दिया। अब पार्क प्रशासन इतनी मनमानी पर उतर आया है कि प्रशासन ने फैंसिग के अंदर जेसीबी लगाकर खाई खोदने का काम शुरू कर दिया है।

गज़ब कारनामा। कार्बेट पार्क प्रशासन ने कंडी रोड की जगह खोद डाली खाई। ग्रामीणों ने जताई आपत्ति 1

https://uttranews.com/almora-breaking-court-sentenced-10-year-sentence-to-10-year-old-accused-of-raping-a-handicapped-woman/

ग्रामीणों का कहना है कि जिस जगह प्रशासन खाई खोद रहा है वह पुराना कंडी मार्ग है। इस मार्ग पर कभी वाहनों का आवागमन होता था। लेकिन पार्क प्रशासन की नीतियों के मकसद के चलते यह मार्ग धीरे-धीरे बंद हो गया।

https://uttranews.com/big-news-the-first-cabinet-meeting-of-2020-concluded-the-state-college-has-been-cleared-to-fill-the-vacant-posts-for-a-year-the-cabinet-agreed-to-these-decisions/

अब कार्बेट पार्क प्रशासन ने हैरतअंगेज कारनामा करते हुए यहां जेसीबी सहित श्रमिक लगाकर खाई खोदने का काम शुरू कर दिया है। रामनगर के हिम्मतपुर डोटियाल ग्रामसभा से सांवल्दे के बीच पडने वाले क्षेत्र में जो पुराना कंडी मार्ग है वहां पर पार्क प्रशासन ने पुरानी कंडी मार्ग जिस पर वर्षों से आवागमन बंद है, लेकिन यह क्षेत्र विवादित है, स्थानीय जनता सहित बडी आबादी इस मार्ग को खोलने की मांग कर रहे हैं। इस जगह पर पहले फैंसिग और अब खाई खोदने का काम पार्क प्रशासन कर रहा है। वहीं ग्रामीणो का कहना है कि आम ग्रामीण पार्क से लगती सीमा पर जंगल में लकडी और चारे के लिए भी जाते हैं जिसे पार्क प्रशासन बाधित करना चाहता है। वहीं पार्क के अधिकारियों का तर्क है कि खाई के खोदने से वन्य जीव आबादी क्षेत्र में नहीं आएंगे और खाई तथा फैंसिग के मध्य ही सिमट जाएंगे। लेकिन ग्राम हिम्मतपुर डोटियाल के ईडीसी ओमप्रकाश गौड कहते हैं, कि उन्होंने वन्य अधिकारियों को इस विषय में अवगत करवाया, लेकिन पार्क प्रशासन स्थानीय ग्रामीणो की बात को नजरअंदाज कर रहा है।

कंडी मार्ग सडक के लिए संघर्ष करने वाले पीसी जोशी भी मानते हैं कि पार्क प्रशासन जिस जगह को अपनी बता रहा है वह वास्तव में पुराना कंडी मार्ग है। इसके साथ ही फारेस्ट गार्ड भी दबी जुबान में यह स्वीकारते हैं कि यदि खाई खोद दी गई तो निगरानी करने में समस्या आएगी। जिससे चौकसी नहीं हो पाएगी।  पार्क प्रशासन की यह कार्यवाही वास्तव में लोगों के हक हकूकों पर डाका डालने का प्रयास है। वास्तव में यदि पार्क प्रशासन ने पहले वन्य जीवों का भय दिखाकर पहले सोलर फैंसिग कर जंगल में जाने के मार्ग बंद कर दिए अब सडक और उससे लगती भूमि पर खाई खोद कर पार्क प्रशासन स्थानीय ग्रामीणों के वन अधिकारों को पूरी तरह समाप्त कर रहा है, इसके साथ ही स्थानीय ग्रामीणो का दावा है कि पुराने कंडी मार्ग को धीरे धीरे समाप्त कर दिया जाएगा। 

बात अपनी अपनी 


पार्क के अधिकारियों के सामने हमने अपनी बात रखी थी। लेकिन पार्क के उच्चाधिकारी कुछ सुनने को तैयार नहीं है। स्वास्थ्य खराब होने के चलते मैं प्रयास करने में असमर्थ हो रहा हूं। जन्द ही इसके लिए लंबी लडाई लडी जाएगी। 
                      ओम प्रकाश गौड, ईडीसी, हिम्मतपुर डोटियाल


पार्क अधिकारी पूर्व से ही कंडी मार्ग को विवादित बनाते रहे हैं। पुराने नक्शे में यह सडक रामनगर के लखनपुर से कोटद्वार तक इसी पुराने मार्ग से कशेरूआ गधेरे तक जाती थी। 
                         पीसी जोशी, कंडी सडक संघर्ष समिति

 
हम कार्यवाही अपनी सीमा मे कर रहे हैं। वन्य जीव ग्रामीण क्षेत्र में नहीं आ पाए इसलिए यह कार्यवाही की जा रही है। कोई भी वन्यजीव खाई की ओर आएगा। कंडी मार्ग पर अतिक्रमण की बात गलत है। 
                         राजकुमार, रेंजर, बिजरानी रेंज  

उत्तरा न्यूज की खबरें व्हाट्सएप पर सबसे पहले पाने के लिए 9456732562, 9412976939 और 9639630079 पर फीड लिख कर भेंजे…..
आप हमारे फेसबुक पेज ‘उत्तरा न्यूज’ व न्यूज ग्रुप uttra news से भी जुड़कर अपडेट प्राप्त करें| click to like facebook page
यूट्यूब पर सबसे पहले अपडेट पाने के लिए youtube पर uttranews को सब्सक्राइब करें। click to see videos

Join WhatsApp & Telegram Group

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Telegram Channel ज्वाइन करें।
Join Now

loading...

Share Article