Advertisements

स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक शिकागो भाषण की 125वीं वर्षगांठ पर अल्मोड़ा में दो दिवसीय ‘राष्ट्रीय व्यक्तित्व विकास संगोष्ठी’ का होगा आयोजन: पद्मश्री व एवरेस्ट विजेता लवराज सिंह धर्मसत्तू होंगें मुख्य अतिथि

अल्मोड़ा। युगपुरुष स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक शिकागो भाषण की 125वीं वर्षगांठ के अवसर पर अल्मोड़ा में दो दिवसीय ‘राष्ट्रीय व्यक्तित्व विकास संगोष्ठी’ का आयोजन होने जा रहा है। ​यह कार्यक्रम विवेकानंद कार्नर स्थित रामकृष्ण कुटीर की ओर से किया जा रहा है। जिसमें विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास पर आधारित कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।
गुरुवार को यहां नगर के एक होटल में पत्रकारों से वार्ता के दौरान रामकृष्ण कुटीर के अध्यक्ष स्वामी ध्रुवेशानंद ने बताया कि आगामी 28 व 29 सितंबर को जीआईसी अल्मोड़ा के सभागार में राष्ट्रीय व्यक्तित्व विकास संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम के पहले दिन यानि 28 सितंबर को विद्यार्थियों हेतु संगोष्ठी का आयोजित की जाएगी। जिसका विषय ‘स्वामी विवेकानंद एवं व्यक्तित्व विकास: युवाओं के विशेष संदर्भ में’ में होगा। जबकि कार्यक्रम के दूसरे दिन 29 सितंबर को शिक्षकों एवं शोधार्थियों हेतु संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा। जिसका विषय ‘स्वामी विवेकानंद के विचारों की वर्तमान में प्रासंगिकता’ होगा। उद्धाटन सत्र की अध्यक्षता कुमाउं विवि के कुलपति प्रो. केएस राणा करेंगें जबकि मुख्य अतिथि जाने माने एवरेस्ट विजेता व पद्मश्री लवराज सिंह धर्मसत्तू होंगे। इसके अलावा प्रमुख वक्ता के रूप में स्वामी निखिलेश्वरानंद अध्यक्ष रामकृष्ण आश्रम राजकोट गुजरात इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। विशिष्ट अतिथि डीएम नितिन सिंह भदौरिया व सीडीओ मनुज गोयल होंगे। इसके अलावा संगोष्ठी के दूसरे दिन का उद्घाटन मुख्य अतिथि राधा भट्ट, लक्ष्मी आश्रम कौसानी करेंगी। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता स्वमी शुद्धिदानंद, अध्यक्ष अद्वैत आश्रम मायावती चंपावत करेंगे।
स्वामी ध्रुवेशानंद ने कहा कि इस संगोष्ठी में नगर समेत हवालबाग व भैसियाछाना ब्लाक के विभिन्न विद्यालयों के कक्षा 9 से 12 तक के करीब 1 हजार से अधिक छात्र—छात्राएं प्रतिभाग करेंगे। साथ ही 29 सितंबर को शिक्षकों एवं शोधार्थियों हेतु संगोष्ठी में शिक्षक, शोधार्थी व स्नातक स्तर के छात्र—छात्राएं अपना शोध पत्र प्रस्तुत करेंगे। स्वामी ध्रुर्वेशानंद ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने शिकागो भाषण के दौरान पूरे विश्व से आये हुए विभिन्न धर्मों के ज्ञाताओं को हिंदू धर्म की ताकत का एहसास कराया था। उन्होंने अपने जीवन के अल्प समय में हिंदूु धर्म को विश्वभर में एक नई पहचान देने का कार्य किया। उन्होंने आज के युवाओं से स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व व उनके विचारों से प्रेरणा लेकर धर्म के मार्ग पर चलने का आह्वान किया। पत्रकार वार्ता में विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान अल्मोड़ा के पूर्व निदेशक डॉ. जेसी भट्ट, पूर्व पैरामिलिट्री फोर्स के कुमाउं मंडल के अध्यक्ष मनोहर सिंह नेगी, डॉ. सीपी फुलोरिया, रवि विद्यार्थी, धर्म सिंह बिष्ट, जेसी गुप्ता आदि मौजूद थे।

Advertisements
style="display:block" data-ad-format="autorelaxed" data-ad-client="ca-pub-8801341327394184" data-ad-slot="2507290486">
%d bloggers like this: