नामजद की गिरफ्तारी ना होने पर पत्रकारों ने दी मुख्यमंत्री आवास घेरने की चेतावनी

[hit_count]

अल्मोड़ा। रानीखेत विधानसभा चुनाव में भाजपा से बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ चुके डॉ प्रमोद नैनवाल के भाजपा में शामिल होने पर पत्रकारों ने एक प्रेस कांफ्रेस कर भाजपा के इस निर्णय पर सवाल खड़े किये है ।
बताते चले कि 25 मार्च को हल्द्वानी में दि संडे पोस्ट के पत्रकार मनोज बोरा पर जानलेवा हमला हुआ था। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया था।

 


गुरूवार को प्रमोद नैनवाल के भाजपा में शामिल होने के बाद घायल पत्रकार मनोज बोरा, दिव्य सिंह रावत व अन्य ने अल्मोड़ा के शिखर होटल में एक प्रेस वार्ता कर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की बात कही। मनोज बोरा ने कहा कि चाल चरित्र की बात करने वाली भाजपा का असली रूप इससे सामने आ गया है। कहा कि
इस मामले में प्रमोद नैनवाल के भाई सतीश नैनवाल को भी आरोपी बनाया गया था। उन्होने भारतीय जनता पार्टी पर अपराधी तत्वों को प्रोत्साहित करने का आरोप लगाया। उन्होने 11 अप्रैल तक नामजद लोगों की गिरफ्तारी ना होने पर 12 अप्रैल को पत्रकारों के साथ मुख्यमंत्री आवास घेरने की चेेतावनी दी। इस मौके पर सामाजिक कार्यकर्ता अमित जोशी ने पत्रकार पर हुए हमले की कड़ी निंदा करते हुए आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की।

%d bloggers like this: