हर माह 5 तारीख को मनाया जाएगा कुपोषण दिवस

पिथौरागढ़ जिले में 70 कुपोषित और 24 अति-कुपोषित बच्चे

पिथौरागढ़। जनपद में बच्चों में कुपोषण को खत्म करने के लिए हर महीने की 5 तारीख को कुपोषण दिवस मनाया जाएगा। इस दिन कुपोषित बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें विशेष पोषाहार भी पूरे माह के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। जिला कार्यालय में राष्ट्रीय पोषण मिशन की बैठक में जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने यह बात कही। जिलाधिकारी ने कहा कि जो बच्चे कुपोषित हैं उनमें इसे खत्म करने के लिए एक विशेष अभियान चलाया जाएगा, जिसमें प्रत्येक कुपोषित बच्चे को एक जिला स्तरीय अधिकारी गोद लेकर प्रत्येक माह की 5 तारीख को संबंधित आंगनबाड़ी केन्द्र में जाकर बच्चे से मिलेंगे और उसे कुपोषण से मुक्त करने को स्वास्थ्य उपचार परीक्षण व पौष्टिक पोषाहार भी उपलब्ध कराएंगे।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण अभियान का मुख्य लक्ष्य वर्ष 2022 तक 6 तक वर्ष के बच्चों में कुपोषण को कम करना है। इसके अतिरिक्त गर्भवती महिलाओं व किशोरियों में एनीमिया को भी कम किया जाना है। इस दौरान बाल विकास जिला कार्यक्रम अधिकारी राधिका ह्यांकी ने बताया कि जिले में वर्तमान में 70 कुपोषित और 24 अतिकुपोषित बच्चे हैं। जिनका नियमित स्वास्थ्य परीक्षण किया जाता है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि प्रत्येक बच्चे की एक प्रोफाइल तैयार की जाय तथा बच्चे को स्वस्थ किए जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग नियमित स्वास्थ्य परीक्षण भी करे। बैठक में जिलाधिकारी ने जिले मे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की भी समीक्षा करते जिलाधिकारी ने कम लिंगानुपात वाले गावों में विशेष जागरूकता अभियान चलाने और आगामी 24 जनवरी बालिका दिवस पर सभी विकास खंडो में विशेष जागरूकता कार्यक्रम, नुक्कड़ नाटक, रैली व प्रतियोगिताएं आयोजित करने के भी निर्देश दिए। बैठक में परियोजना निदेशक डीआरडीए डीडी पंत, डीडीओ गोपाल गिरी, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ उषा जंगपांगी, जिला शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार गुसाँई समेत विभिन्न स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

%d bloggers like this: