बगीचे के गेट पर युवक को गोली से उड़ाया

रामनगर । बेखौफ अज्ञात हत्यारो ने बीती रात एक अज्ञात युवक को नेशनल हाइवे पर स्थित एक बगीचे के गेट पर गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद हत्यारे मृतक की तलाशी लेकर उसकी जेब से उनकी शिनाख्त का माध्यम भी खत्म करके पुलिस के लिये दोहरी चुनौती पेश कर गये। जघन्य हत्याकांड की सूचना मिलते पर पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने मौके का निरीक्षण कर मामले की जांच शुरु कर दी है। घटना की जानकारी बगीचे में काम करने वाले एक मजदूर ने ही दी। जानकारी के अनुसार रामनगर-काशीपुर नेशनल हाइवे संख्या 121 पर कृष्णा गार्डन के निकट एक बगीचे में काम करने वाला मजदूर गुरुवार की सुबह बगीचे से बाहर आया तो उसे बगीचे के गेट पर ही खून से लथपथ एक युवक का शव दिखाई दिया। शव देखते ही मजदूर की सिटटी-पिटटी गुम हो गई। सूचना मिलने पर कोतवाली से पुलिस क्षेत्राधिकारी लोकजीत सिंह व कोतवाल विक्रम सिंह राठौर दल-बल के साथ मौके पर पहुंच गये। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की जानकारी अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी तो एसएसपी के निर्देश पर एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव व फारेन्सिक एक्सपर्ट डाग स्कायड के साथ मामले की जांच के लिये मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने मृतक की शिनाख्त कराने के प्रयास किये लेकिन उसे कोई सफलता नहीं मिली। मृतक के कपड़ो आदि की तलाशी में कोई ऐसा सूत्र हासिल नहीं हुआ जो कि मृतक की शिनाख्त में मदद कर सकता। मौके पर मिले करीब बीस वर्षीय युवक के शव की स्थिति देखकर पुलिस का मानना है कि उस पर तमंचे से दो फायर किये गये थे। जिसमें से पहली गोली उसके कान के पास सटाकर व दूसरी उसकी मौत पूरी तरह से निश्चित करने के लिये सीने पर मारी गई थी, जिससे युवक मौके पर ढेर हो गया। पुलिस का कहना है कि जिस प्रकार मृतक के कान से सटाकर गोली मारी गई है उससे साफ है कि हत्यारा मृतक की जान-पहचान का है। मौके पर मौजूद फारेन्सिक विशेषज्ञो की टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाने के साथ ही डाग स्कायड लूसी को घटनास्थल के आस-पास घुमाया तो वह आस-पास सूंघने के बाद बगीचे में ही घुमता रहा। बहरहाल पुलिस ने इस मामले में इसी बगीचे में काम करने वाले पांच युवको को पूछताछ के लिये अपनी हिरासत में ले लिया है। जबकि मृतक के शव का पंचनामा भरकर शिनाख्त के लिये उसे मोर्चरी में रखवा दिया है।

मामले का होगा जल्द खुलासा : एसपी सिटी 
रामनगर। अज्ञात युवक के ब्लाइंड मर्डर की बाबत एसपीसिटी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि अपराधी ने जिस प्रकार से अपराध करने के बाद मौके से हर प्रकार के साक्ष्य मिटाने का पूरा प्रयास किया है, उससे साफ है कि हत्यारा बेहद चालाक व पुलिस की कार्यप्रणाली से वाकिफ रहा होगा। इसके साथ ही मृतक हत्यारे को अच्छी तरह से जानता था। इसीलिये उसके सर के पास से सटाकर हत्यारे ने फायर किया गया जिसके लिये मृतक पहले से तैयार नहीं था। श्री श्रीवास्तव ने दावा किया कि हत्यारे ने भले ही अपनी ओर से पूरी चालाकी करते हुये इस हत्याकांड को अंजाम दिया हो लेकिन पुलिस इस मामले को जल्द खोल देगी। मृतक की फोटो को रामनगर, काशीपुर, के साथ ही उप्र के निकटवर्ती जनपदो के थाना-कोतवाली में भेजकर उसकी शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है। मृतक की शिनाख्त होने के बाद ही पुलिस की जांच दिशा तय होने पर अपराधी पुलिस के फंदे में होंगे।